जाने उस ख़िलाडी के बारे में जो क्रिकेट जगत में उड़ने को तैयार है,अमन गोस्वामी, देखे

Khelbihar.com

पटना।। चलिए जानते है पटना के फतुआ में जन्मे ऐसे क्रिकेटर के बारे में जो क्रिकेट प्रैक्टिस के लिए रोज 35 किमी. ट्रैन से सफर कर पटना जाते है और वापस आते है, पटना जिला और बिहार के उभरते हुए ख़िलाडी है अमन गोस्वामी जो क्रिकेट को अपनी जिंदगी बना चुके है और अपने मंजिल को पाने में लगे है ।।

खेलबिहार.कॉम न्यूज़ द्वारा बिहार के उभरते और आदर्श क्रिकेट खिलाड़ियो की पहचान क्रिकेट मेरी जान के सीरीज द्वारा करबा रही है अगर आप हमारे फसेबूक पेज से नही जुड़े है तो आज ही जुड़ जाए।।

आज की कहानी बताती है कि जब कोई क्रिकेट खिलाड़ी क्रिकेट को अपना बना ले तो किस क़दर उसे पाने में डूब जाते है जी हा कुछ ऐसे ही कहानी है पटना के क्रिकेटर अमन गोस्वामी की।

अमन बताते है कि उन्होंने क्रिकेट 2015 में खेलना शुरू किया था हालांकि उनके घर से क्रिकेट को लेकर कोई स्पोर्ट नही रहता था फिर भी अमन गोस्वामी ने क्रिकेट को अपना कैरियर चुना ।अमन पढ़ाई में बहुत अच्छे थे इसलिए घर से उन्हें क्रिकेट खेलने से मना करते थे और पढ़ाई में कैरियर चुनने को कहते थे लेकिन अमन को क्रिकेट का ऐसा भूत सवार था कि उन्होंने अपने पढ़ाई को ही अलविदा कर दिया।।

अमन 35 किमी. अपने घर से रोज पटना में प्रैक्टिस के लिए जाते है और वापस भी आते है उन्होंने बताया कि जब क्रिकेट शुरू किया था तो पटना के सीएबी में प्रैक्टिस करते थे पर बिहार में क्रिकेट को मान्यता नही होने के कारण पटना से रांची चले गए और कुछ दिन वहां भी क्रिकेट सीखे लेकिन बाद में उन्होंने वापस पटना में ही आकर प्रैक्टिस करने लगे ।।

अमन के अनुसार जब वह पटना में वापस आये तो पटना जिला जूनियर डिवीजन क्रिकेट लीग शुरू हुआ जिसमें अच्छे क्रिकेट खेलने के कारण अरुण सर ने उनको कंकड़बाग सीसी का कप्तान बनाया गया उन सीजन ने 3 मैच में 9 विकेट निकाले थे जिसके बाद उन्हें पटना अंडर-16 जिला टीम में स्टैंड बाये में रखा गया था।।

लेकिन अमन ने उससे ज्यादा उदास नही होते हुए और मेहनत की और अगले सीजन में 3 मैच में 14 विकेट निकाले जिसके बाद उन्हें उनका मेहनत दिखा और उन्हें पटना जिला अंडर-16 टीम ने जगह मिल गया और फिर पटना जिला टीम से खेलते हुए उन्होंने अच्छा परफॉर्मेंस दिए जिससे उन्हें बिहार स्टेट अंडर-16, मेडिकल टेस्ट के लिए बुलाया गया ।।

स्टेट टीम जगह बनाने के बाद अमन ने बहुत से मैच में मैन ऑफ द मैच बने जिसमे उन्होंने पटना से रजिस्टर टी-20 टूर्नामेंट में एक ऐसा रिकॉड बनाया जो टी-20 बड़े रिकॉड है उस मैच में सिर्फ 12 रन खर्च करते हुई 7 विकेट लिया था।

अमन के पापा और घर से तभी स्पोर्ट क्रिकेट में मिला जबसे अमन ने अपना पहला परफॉर्मेंस दिया था उन्हें बाद उनको क्रिकेट के लिए पापा से मदद मिलने लगी।।

अमन के कोच विजय सर और अरुण सर हमेशा अमन के बारे में लोगो को बताते है कि इस लड़के में बहुत टैलेंट है यह एक दिन इंडिया जरूर खेलेगा इसके पीछे कोच विजय सर के अलावे संतोष सर,अरुण सर के विश्वास को बताया।।

अमन गोस्वामी का लक्ष्य अब इंडिया अंडर-19 टीम में जगह बनाना है और अंडर-19 वर्ल्डकप भी खेलना है वह इसके पीछे बहुत मेहनत कर रहे है। अमन को उनके मेहनत का फल जरूर एक दिन मिलेगा हमारी यही दुआ है ।।