BCA प्रेस कॉन्फ्रेंस संपन्न,बीसीए के कि छवि खराब करने वाले पर बरसे संजय सिंह

पटना 19 अक्टूबर: आज राजधानी पटना के राजेंद्र नगर स्थित मोइनुल हक स्टेडियम में बिहार क्रिकेट संघ द्वारा आयोजित प्रेस वार्ता संपन्न हुई।

इस प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए बीसीए क्रिकेटिंग गतिविधियों को संचालित करने के लिए अधिकृत जिला संघों के प्रतिनिधि संजय कुमार सिंह ने जहां बिहार की क्रिकेटिंग गतिविधियों से जुड़ी बातों को मीडिया के समक्ष रखते हुए चयन प्रक्रिया, सिलेक्शन ट्रायल मैच और बिहार की सीनियर विमेंस टीम के कैंप से संबंधित बातों को विस्तृत रूप से प्रकाश डालते हुए कल कोलकाता के लिए रवाना होने वाली सीनियर विमेंस टीम के बारे में बताया और कहा कि कल जयप्रकाश नारायण हवाई अड्डा से 11:00 बजे बिहार की टीम कोलकाता के लिए उड़ान भरेगी।

वहीं बीसीए टूर्नामेंट कमेटी के चेयरमैन संजय सिंह ने बिहार क्रिकेट संघ की छवि को धूमिल करने और बिहार की अस्मिता के साथ लगातार खिलवाड़ कर रहे आदित्य वर्मा पर हमला करते हुए कहा कि बिहार के लिए यह बड़ी विडंबना है की ऐसे लोग अपने ही राज्य की माटी को अपने निजी स्वार्थ के लिए बेवजह बदनाम करने पर तुले हुए हैं।

मैं देख रहा हूं कि कुछ दिनों से बीसीए अधिकारी धर्मवीर पटवर्धन के ऊपर बेबुनियाद और निराधार आरोप लगाते हुए एक बार फिर से बीसीए की छवि को धूमिल करने का प्रयास कर रहे हैं और जिस दो खिलाड़ियों से अपनी जुबानी बातों को वीडियो के माध्यम से वायरल करवाने का प्रयास किए हैं वह इनकी वास्तविक चरित्र को उजागर करता है।

श्री सिंह ने ब्लैकमेल करने से जुड़ी ऑडियो को मीडिया के समक्ष वायरल करते हुए बताया कि कई ऐसे ऑडियो हैं जो आप लोगों के समक्ष प्रस्तुत करने में खुद को असहज महसूस करता हूं।

श्री सिंह द्वारा जारी पहली ऑडियो में आदित्य वर्मा द्वारा पूर्व सचिव रविशंकर प्रसाद सिंह को अपने बेटे लखन राजा को बिहार टीम में शामिल कराने के लिए ब्लैकमेल करते सुने गए और चयन नहीं करने पर खुद को सुप्रीम कोर्ट का याचिकाकर्ता होने के नाते मेरे खासने से कोर्ट को हिलने और बीसीए को ध्वस्त कर देने की बात तक कर डाली।

वहीं दूसरी ऑडियो में बिहार रणजी टीम के कप्तान को अपने बेटे लखन राजा को प्लेइंग इलेवन में जगह देने का दबाव बनाते हुए धमकी दे डाली और कहा कि अगर मेरा बेटा कल का मैच नहीं खेलेगा तो बीसीए को कल हीं बर्बाद कर दूंगा।

जबकि जो कागजात बीसीए द्वारा प्रस्तुत किया गया उसमें बिहार सीनियर टीम के मुख्य कोच निखिलेश रंजन ने साफ- साफ शब्दों में लखन राजा के अनुशासनहीनता का जिक्र करते हुए कहा है कि ऐसे खिलाड़ी पूरी टीम का माहौल खराब कर रहे हैं।

जबकि सीनियर चयन समिति के चेयरमैन जिहान उल याकिन ने भी बीसीए एंटी करप्शन समिति के अजीत कुमार पांडे को मेल करते हुए आदित्य वर्मा द्वारा अंपायर और मैच रेफरी के साथ दुर्व्यवहार पर कार्रवाई करने और लखन राजा द्वारा किए जा रहे अनुशासनहीनता के खिलाफ करवाई करने का आग्रह किया था।

जबकि हकीकत यह है कि रणजी ट्रॉफी के दो डेज और एक एकदिवसीय मैच मिलाकर कुल 5 पारियों में चार बार बिना खाता खोलें पवेलियन वापस आ गए जबकि एक पारी में केवल और केवल 09 रन हीं बना सकें जिसका औसत 2.2 रहा जो आज भी बीसीसीआई के रिकॉर्ड में दर्ज है। आखिर ऐसे अयोग्य खिलाड़ी को किस आधार पर टीम में शामिल किया जाए।

बीसीए अब पूरी तरह से कमर कस चुकी है और ऐसे ब्लैकमेलरों से दो-दो हाथ करने के लिए तैयार है। जिसमें आप समस्त पत्रकार बंधुओं की सकारात्मक सहयोग से हीं यह जंग जीता जा सकता है।

इस प्रेस वार्ता में मुख्य रूप से बीसीए के पूर्व सचिव और बीसीए एडवाइजरी कमिटी के चेयरमैन अजय नारायण शर्मा भी मौजूद थें जिन्होंने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि ऐसे क्रिकेट के दानव रूपी व्यक्ति को एकजुट होकर सर्वनाश कर डालने का वक्त आ चुका है और इस बार बीसीए को इस कोढ़ की बीमारी से हम आप सबों को निजात दिलाना हीं होगा तभी बिहार क्रिकेट का विकास संभव होगा।

इस अवसर पर बीसीए अधिकारी धर्मवीर पटवर्धन भी मौजूद थें।उपरोक्त विषयों के संदर्भ में यह विस्तृत जानकारी बीसीए मीडिया कमेटी के संयोजक कृष्णा पटेल ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर दी है। जारी विज्ञप्ति में दो ऑडियो भी जारी किया गया है जो खेलबिहार के पास उपलब्ध है लेकिन इस ऑडियो के सही होने की पुष्टि खेलबिहार बिल्कुल भी नही करता है।।