श्रीलंका ने रविवार को क्रिकेट जगत को हैरान करते हुए एशिया कप 2022 का खिताब अपने नाम किया। श्रीलंका ने छठी बार एशिया कप का खिताब अपने नाम किया। दसुन शनाकाके नेतृत्‍व वाली श्रीलंका ने दुबई में खेले गए फाइनल में पाकिस्‍तान को 23 रन से मात दी।

शनाका ने प्रेजेंटेशन सेरेमनी में कहा, ‘मैं दर्शकों को धन्‍यवाद देना चाहता हूं। इन्‍होंने हमारा शानदार समर्थन किया। मैं घरेलू दर्शकों को भी शुक्रिया कहना चाहता हूं, उम्‍मीद है कि हमने उन्‍हें गौरवान्वित किया।’

शनाका से पूछा गया कि जब टॉस का नतीजा पक्ष में नहीं आया तो कैसा महसूस हुआ। इस पर श्रीलंकाई कप्‍तान ने जवाब दिया, ‘अगर मैं आईपीएल 2021 के फाइनल पर ध्‍यान दूं तो चेन्‍नई ने पहले बल्‍लेबाजी करके फाइनल जीता था। इन युवाओं को परिस्थितियां अच्‍छी तरह पता हैं।’

श्रीलंकाई कप्‍तान ने कहा, ‘हमने पांच विकेट गंवा दिए थे। तब हसरंगा और राजपक्षे ने साझेदारी करके मैच में फर्क बनाया। इससे पहले चमिका करुणारत्‍ने और धनंजय डी सिल्‍वा ने भी अच्‍छी बल्‍लेबाजी की थी। 20वें ओवर में आखिरी गेंद पर छक्‍का टर्निंग प्‍वाइंट की तरह रहा। 170 हमेशा मुश्किल लक्ष्‍य होता है।’

बता दें कि हसरंगा और राजपक्षा के बीच छठे विकेट के लिए 58 रन की साझेदारी हुई और यहां से श्रीलंका ने शानदार वापसी करते हुए बड़ा स्‍कोर खड़ा किया।यह पूछने पर कि अपने गेंदबाजों से क्‍या कहा था तो शनाका ने बताया, ‘यह सब विश्‍वास पर आधारित था। मुझे हमेशा से पता था कि युवा खिलाड़ी प्रदर्शन करके दे सकता है। वो शुरुआत में गलती कर सकता है, लेकिन हमने उसे विश्‍वास दिलाया और उसने प्रदर्शन करके दिया।’

याद दिला दें कि श्रीलंका की एशिया कप में शुरुआत हार के साथ हुई थी और वह चैंपियन बनकर उभरी। इस पर शनाका ने कहा, ‘यह किसी भी अच्‍छी टीम के साथ हो सकता है। हमारे साथ यह अच्‍छे कारण के लिए हुआ। पहले मैच में हार के बाद हमने गंभीर विचार किया। हमारे पास खिलाड़ी हैं, जिनमें काफी क्षमता है और उन्‍होंने प्रदर्शन करके दिया। हमारे खिलाड़‍ियों ने फाइनल में शानदार फील्डिंग की, जिसके चलते हम चैंपियन बने।’

श्रीलंकाई कप्‍तान ने आगे कहा, ‘जब हम फाइनल में पहुंचे तब तक फील्डिंग में काफी सुधार हुआ था। हमने शुरूआत में गलती की थी, लेकिन फाइनल अलग है। हमने अपना 100 प्रतिशत दिया। खिलाड़‍ियों और कोचिंग स्‍टाफ को पूरा श्रेय जाता है। मैं श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड को धन्‍यवाद देना चाहता हूं, जिन्‍होंने हमारा समर्थन किया और चयनकर्ताओं ने भी अहम योगदान दिया।’